Kavita & Shayari

मैं खामोश हूँ
मैं खामोश हूँ, ये ख़ामोशी का राज़ मुझे नहीं मालूम,
ना जाने क्यों वो मुझे मगरूर समझ बैठे हैं।

ख़ामोशी में जो मजा है वो कहाँ इजहार में,
शब्द-शब्द को चुनता हूँ वक़्त के पैमाने में।

पर मेरे अल्फ़ाज़ का हर शब्द तेरा गुलाम है,
मेरे हर नफ़्ज़ में बस तेरा नाम है।

कुछ सवा&#
Read More
Kavita

नमो

नमो
हे नमो देश की अधूरी आशाएँ अभी बाकी है।

उम्मीदों और आशाओं की नई किरण देश में जगी है,
नमो नमो नमो, कमल ही कमल सजी है।

नई सरकार, नए लोकतंत्र का ताना-बाना बुन रहा है भारत,
करोड़ों दिलों की अधूरी आशाएँ अभी बाकी है।

तेरा शेर सा दहाड़ना, तेरी आवाज़ में कई आवाज़ अभी बाक
Read More
Kavita

Happy Birthday Atalji

Happy Birthday Atalji
भारत के अदभुत रत्न, गंदे राजनीति को बदलने को,
देश में शुसान लाने को,
अटलजी आप राजनीति के गलियारे में आए,
जन-जन में उम्मीदों की किरण है जगाए।

लुटती थी महफिले आपकी कविताओं से,
आज फिर जाग उठा है देश खामोशी से,
मिले हैं भारत-रत्न, मुबारक हो आपको,
जन्मदिन पे करत
Read More
Kavita

तलाश

तलाश
दो लब्ज़ो में ढूंढ रहा हूँ अपनी वो दास्तां,
बैठा अकेले सोच रहा हूँ पुराने दिन बार-बार।

एक-एक पल जी रहा हूँ अबतक यादों में,
जाया न करो वक्त तू किसी की तलाश में,
अब मंडराता रहता हूँ गुमनाम मंज़िल की तलाश में।
Read More
Kavita

सवाल

सवाल
तुम्हारा सवाल कौधता है जेहन में मेरे,
तब से, जब से,
कहा था तुमने कि "तूम बदल गए हो",
तब जवाब नही था पास मेरे,
निशब्द था मै, मौन था मैं, अपनी भावनाओ की तरह,
पर आज कहता हूँ, शब्द शब्द को चुनता हूँ..कि...

बंद मुट्ठी से उड़ जाती है किस्मत की परी,
इस हथेली में कोई छेद पुराना
Read More